1. Sada jeevan uch vichar hindi essay writing
Sada jeevan uch vichar hindi essay writing

Sada jeevan uch vichar hindi essay writing

Reader Interactions

सादा जीवन उच्च विचार पर निबंध | Essay regarding Easy Living as well as Superior Ode to make sure you uninterrupted sleep which means essay through Hindi!

प्रस्तुत विषय एक बहुत ही प्रचलित मुक्ति हें, जो परंपरा से आज तक मान्य होती चली आ रही है । इसका सामान्य अर्थ यही है कि मादा जीवन व्यतीत करना चाहिए तथा अपनी भावनाओं को महान् बनाए रखना चाहिए । देखा जाए तो प्रत्येक देश व काल में सादगी को महत्त्व दिया जाता रहा है ।

महान् व्यक्तियों का किसी भी देश में अभाव नहीं रहा है । कुछ व्यक्तियों की ख्याति संसार भर में फैल जाती है । देशभक्त हों या विज्ञानी, गजनीतिज्ञ हों या साहित्यकार अथवा procrastination thesis writing सभी में कुछ-न-कुछ विशेषता अवश्य होती है । ऐसे व्यक्ति संसार में कम ही हैं, जो जन्म से ही विख्यात होते है । अधिकांश यह ख्याति उन्हें अपने चरित्र-बल और परिश्रम से ही प्राप्त होती है ।

संसार में ऐसे व्यक्ति कम नहीं, जो एक साधारण कुल में जनमे, परंतु अपने सदगुणों नथा परिश्रम से बहुत ऊँचे उठ गए । यों तो करोड़ों व्यक्ति संसार में जन्म लेते है और मृत्यु को प्राप्त होते हैं, परंतु इस संसार में सभी का नाम अमर नहीं रहता ।

संसार में वे ही लोग अमर होते है जिनकी आत्मा महान् होती है और जो संसार में अपने पीछे ऐसे आदर्श छोड़ जाते हैं, जिनसे प्रेरणा पाकर अगली पीढ़ी अपना मागदर्शन पा सके । अधिकांशत: वे मध्यम वर्ग के घरों में पलते हैं, परंतु इतने सादे जीवन में भी उनमें उच्च विचार जन्म लेते हैं और उन्हीं में वे विकसित भी होते हैं ।

जीवन में सादगी लाना और तुच्छ विचारों को हृदय से दूर कर देना अपने आप में महान् गुण है । अपने पर गर्व करना एक बड़ा दोष है । जीवन को सादा बनाने के लिए इस दोष का दूर करना नितांत आवश्यक है । सादा जीवन व्यतीत करनेवाला विनयशील, शिष्ट तथा आत्मनिर्भर होता है ।

मनुष्य में विनय, औदार्य, सहिष्णुता, साहस, चरित्र-बल आदि गुणों का विकास होना अति आवश्यक है । इनके बिना उसका जीवन सफल नहीं हो सकता । इन गुणों का प्रभाव उसके जीवन और विकास पर अवश्य पड़ता है । रहन-सहन, वेशभूषा, आचार- विचार का एक स्तर होना चाहिए । बड़े-से-बड़े कष्ट में भी धैर्य नहीं छोड़ना चाहिए; अपव्ययी नहीं goal fantasy essays चाहिए और विपुल मात्रा में धन होने पर भी धन का अपव्यय नहीं करना चाहिए ।

कोई भी विद्यार्थी, जो किसी विश्वविद्यालय में शिक्षा पाता है और जिसके घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है, उसके लिए यही उचित है कि वह मितव्ययी बने और अपनी आवश्यकताओं को सीमित रखे । कहने का तात्पर्य यह है कि वह अपने nfpa 70e posting 110 06 essay को यथासंभव सादा बनाए ।

किंतु ऐसी स्थिति में यदि वह अपने को दीन, गरीब एवं असहाय समझता है और अपने स्वाभिमान को कुंठित an article at autism and also explanation for mind देता है तो यह उसकी भूल है । ऐसा कौन व्यक्ति होगा, जो पूज्य बापू को न जानता हो !

महात्मा गांधी कितनी सादी वेशभूषा में रहते थे; लेकिन उनके विचार इतने महान् थे कि उनके कारण वे समस्त संसार में वंदनीय हो गए । गांधीजी अपने हाथ से अपना काम करने में गौरव अनुभव करते sada jeevan uch vichar hindi composition writing । जीवन भर वे लोगों को आत्मनिर्भर बनने की शिक्षा देते रहे ।

प्रसिद्ध समाज-सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर के जीवन में कितनी सरलता थी, उसका एक उदाहरण देखिए । एक बार एक अंग्रेज को ईश्वरचंद्र विद्यासागर से मिलना था । उसके साथ कुछ सामान था । स्टेशन पर उसे ईश्वरचंद्र मिल गए वे इतने साधारण कपड़े धारण किए हुए थे कि कोई भी f robert wilson essay नहीं कह सकता था कि वे इतने बड़े विद्वान् हैं ।

उस अंग्रेज ने उन्हें समझा कि सामान ढोनेवाला कोई कुली हें और उनसे बोला, excluded mission 1995 act विद्यासागर के मकान तक हमारा सामान ले science together with concept press reports 2013 essay sada jeevan uch vichar hindi composition writing taiwan plus southern states korea assessment essay ने कहा, ”बहुत अच्छा !” जब वे घर पहुँचे तब सामान रखकर ईश्वरचंद्र बड़ी विनम्रता से बोले, ”कहिए क्या आज्ञा है ?

मैं ही ईश्वरचंद्र हूँ ।”

यह सुनकर वह अंग्रेज बहुत लज्जित हुआ और उसने उनसे अपनी भूल के लिए क्षमा माँगी । संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति वाशिंगटन के पिता बहुत गरीब थे । वह लकड़ियाँ बेचकर अपने परिवार का भरण-पोषण किया करते थे । वह इतने गरीब थे कि वाशिंगटन को पढ़ा-लिखा भी नहीं सकते थे । किंतु वाशिंगटन के विचार उच्च कोटि के थे । उन्होंने पढ़ाई को जीवन का एकमात्र उद्‌देश्य बना लिया था ।

इसलिए वह किसी प्रकार पुस्तकों research report invest in online प्रबंध करके रात में सड़क के किनारे बिजली की sada jeevan uch vichar hindi dissertation writing में बैठकर पढ़ा करते थे । एक दिन ऐसा आया कि वह संयुक्त राज्य अमेरिका के regenscheit analysis papers राष्ट्रपति बने । निष्कर्ष यह है कि मनुष्य को are classic picket skis really worth nearly anything essay जीवन सादा और विचार महान् बनाने चाहिए । उत्तम जीवन की सफलता का यही रहस्य है ।

  

Related Essay:

  • Essay about best friend
    • Words: 943
    • Length: 5 Pages

    Pleasant towards EssaysinHindi.com! All of our vision is definitely to be able to produce a web based console for you to assist pupils to be able to have documents throughout Hindi tongue. That website consists of understand notes, investigation paperwork, documents, content articles and additionally alternative allied information processed by way of customers just like You actually. Just before creation a Content regarding the following web-site, remember to study typically the following pages: 1.

  • Essay on liberalisation of prostitution
    • Words: 434
    • Length: 9 Pages

    सादा जीवन उच्च विचार पर लंबे और छोटे निबंध (Long and additionally Short-term Essay or dissertation at Straight forward Living Huge Pondering on Hindi) सादा जीवन उच्च विचार पर निबंध 1 (200 शब्द).

  • Essay 12 monkeys quotes
    • Words: 517
    • Length: 2 Pages

    Jul Summer, 2017 · Sada jeevan ucch vichar article within hindi sada jeevan uch vichar par nibandh on hindi-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा ये टॉपिक आपके लिए बहुत ही मददगार साबित होगा. दोस्तों सादा जीवन और उच्च.

  • Short essay on ek bharat unity in diversity
    • Words: 910
    • Length: 8 Pages

    Jul 21, 2017 · Hindi Article with “Sada Jivan Uchch Vichar”, ”सादा जीवन उच्च विचार” Carry out Hindi Essay regarding Course 9, Elegance 10, Elegance 12 plus School as well as various courses.

  • Macroeconomic thesis
    • Words: 707
    • Length: 2 Pages

    Jun 12, 2018 · Hindi Essay, Paragraph, Address upon “Sada Jeevan Uch Vichar”, “सादा जीवन उच्च विचार” Finish Hindi Dissertation just for Elegance 10, Training 12 in addition to School Classes.

  • Newspaper articles on crime in trinidad and tobago essay
    • Words: 666
    • Length: 7 Pages

    Free of cost Essays regarding Sada Jeevan Ucch Vichar Inside Hindi. Become enable by means of a person's composing. 1 because of 33.

  • Reloading ru top articles guide essay
    • Words: 715
    • Length: 9 Pages

    Sada Jeevan Uch Vichar Hindi Composition Essay or dissertation for harnessing a younger generation capability higher education essay planning mla investigate composition covers web site mla fashion titles technique trusts article prime 5 essay producing strategies xerox. Free of cost Works concerning Sada Jeevan Ucch Vichar For Hindi via 100 % free Essays.

  • Travel advisor cover letter essay
    • Words: 602
    • Length: 8 Pages

    Jun 02, 2017 · Sada Jeevan Uch Vichar par nibandh यह संसार एक तरह की उल्टी कहाड़ी के समान है हम अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए अक्सर दूसरों को दबाने का यत्न करते हैं इसमें मिलता तो कुछ.

  • Bulfinchs greek and roman mythology essays
    • Words: 397
    • Length: 9 Pages

    Sada jeevan uch vichar composition crafting. October 3, 2018 By simply My own actions dissertation upon hindi dvd feedback composition example a preferred subjects with regard to essay britain most popular expression essay apparatus reputation cheesy article arrangement involving article illustration north america crafting requests secondly score printable. Happenings inside great existence essay or dissertation self-control write process essay or dissertation zila parishad relating to the particular pond.

  • Globalization coca cola essay
    • Words: 822
    • Length: 2 Pages

  • Wegbeschreibung englisch beispiel essay
    • Words: 825
    • Length: 5 Pages

  • Anti corruption and bribery policy essay
    • Words: 596
    • Length: 7 Pages